झारखंड के पारा शिक्षकों के लिए खुशखबरी: कहलाएंगे सहायक अध्यापक, 60 साल की उम्र तक रहेगी नाैकरी, बैठक के बाद शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने की घोषणा

0
27

झारखंड के करीब 65 हजार पारा शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है। अब ये शिक्षक सहायक अध्यापक कहलाएंगे। इनकी नाैकरी 60 साल तक बनी रहेगी। बीच में किसी काे नहीं हटाया जाएगा। पारा शिक्षकों के साथ बैठक के बाद शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने यह घोषणा की।

उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति लागू हाेने या समग्र शिक्षा अभियान बंद हाेने पर अगर केंद्र ने अपना हिस्सा देना बंद कर दिया ताे झारखंड सरकार पूरी राशि अपनी ओर से देगी। बैठक में पारा शिक्षकाें के आश्रिताें काे नाैकरी देने पर भी सहमति बनी।

मंत्री ने कहा कि वे मुख्यमंत्री के साथ महाधिवक्ता और अन्य वरीय अधिवक्ताओं के साथ बैठक कर वेतनमान देने का रास्ता निकालेंगे। टेट उत्तीर्ण और आकलन परीक्षा उत्तीर्ण शिक्षकाें काे वेतनमान देने पर 29 दिसंबर के बाद बैठक हाेगी। बैठक में विधायक सुदिव्य कुमार सोनू, शिक्षा सचिव राजेश कुमार शर्मा, राज्य परियोजना निदेशक किरण कुमारी पासी और प्रमोद कुमार आदि माैजूद थे। बैठक के बाद एकीकृत पारा शिक्षक संयुक्त माेर्चा के नेता ने प्रसन्नता जताई।

मुख्यमंत्री ने कहा-वेतनमान का भी रास्ता खाेजेंगे

बैठक के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने पारा शिक्षकाें काे बुलाया और मांगाें पर सहमति बनने पर बधाई दी। उन्हाेंने कहा-पारा शिक्षकों को वेतनमान देने का हरसंभव रास्ता खाेजेंगे।

ये सुविधाएं भी मिलेंगी

  • अब हर वर्ष चार प्रतिशत इन्क्रीमेंट हाेगा।
  • 15 दिन का चिकित्सा अवकाश सवैतनिक हाेगा।
  • टेट पास का 50%, प्रशिक्षित का 40% मानदेय बढ़ेगा।
  • नियमावली में चयनित की जगह कार्यरत शब्द लिखा जाएगा।
  • ईपीएफ में जेईपीसी द्वारा अंशदान देने पर सीएम के साथ बैठक में फैसला हाेगा।
  • हाईकाेर्ट का फैसला आने पर अप्रशिक्षित शिक्षकाें के आकलन परीक्षा में भाग लेने का फैसला हाेगा।

अब तीन की जगह चार आकलन परीक्षा

पारा शिक्षकाें के साथ बैठक में 11 दिसंबर काे जाे सेवा शर्त नियमावली का ड्राफ्ट रखा गया था, उसमें भी बदलाव किया गया है। अब तीन की जगह चार आकलन परीक्षा हाेगी। पास मार्क्स भी घटा दिया गया है। पहले सामान्य वर्ग काे पास हाेने के लिए 45 प्रतिशत और आरक्षित वर्ग काे 40 प्रतिशत अंक लाना जरूरी था। इसे पांच प्रतिशत घटाते हुए सामान्य वर्ग के लिए 40 प्रतिशत और आरक्षित के लिए 35 प्रतिशत कर दिया गया है। चाराें आकलन परीक्षा फेल हाेने पर भी किसी की नाैकरी नहीं जाएगी।

नए नियुक्त हाेने वाले प्राथमिक शिक्षकाें का वेतन हाेगा कम

राज्य सरकार नए नियुक्त हाेने वाले प्राथमिक शिक्षकाें का वेतनमान कम करने की तैयारी कर रही है। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने यह प्रस्ताव तैयार किया है। इस पर शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने मंजूरी दे दी है। प्रस्ताव में कहा गया है कि पड़ाेसी राज्य बिहार और ओडिशा में भी ऐसी ही व्यवस्था है। चूंकि बड़ी संख्या में शिक्षकों की नियुक्ति हाेनी है, ऐसे में बजट की कमी न हाे, इसलिए ऐसा कदम उठाना जरूरी है। वर्तमान में प्राथमिक शिक्षकाें का वेतनमान 9300 से 34800 रुपए है, जबकि नए शिक्षकाें का पे स्केल 5200 से 20200 रुपए हाेगा।अभी शिक्षकाें का गेड पे 4200 रुपए तय है। नई व्यवस्था में यह दाे तरह का हाेगा।

पांचवीं कक्षा तक के शिक्षकाें काे 2400 रुपए और आठवीं तक के शिक्षकाें काे 2800 रुपए का ग्रेड पे मिलेगा। प्रस्ताव में कहा गया है कि प्रमाेशन के बाद ये शिक्षक 4200 रुपए का ग्रेड पे हासिल कर सकेंगे। वहीं प्राथमिक शिक्षकाें के आधे पद टेट पास अभ्यर्थियाें से भरे जाएंगे।