माल्यार्पण करने गए युवक ने नीतीश को पीठ पर मुक्का मारा, भीड़ पीटने लगी तो CM ने खुद लोगों को रोका

0
67

बिहार के CM नीतीश कुमार की सुरक्षा में बड़ी चूक देखने को मिली। पटना के बख्तियारपुर में एक कार्यक्रम के दौरान युवक ने पीछे से आकर सीएम को मुक्का जड़ दिया। सीएम की सुरक्षा में मौजूद पुलिसकर्मियों ने युवक को हिरासत में ले लिया है। युवक की पहचान बख्तियारपुर के शंकर के रूप में हुई है। हालांकि इसमें किसी तरह की अप्रिय घटना नहीं हुई. पुलिस दुर्व्यवहार करने वाले युवक को गिरप्तार कर ली है. हालांकि इस घटना के बाद मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि इस युवक पर कोई कार्रवाई नहीं की जाये. इस विक्षिप्त युवक की समस्या को भी समझने की जरूरत है. इधर, पुलिस गिरफ्तार युवक से पूछताछ कर रही है. यह घटना पटना के एसएसपी और डीएम के सामने हुई. पुलिस गिरफ्तार युवक से पूछताछ कर रही है. युवक की पहचान शंकर के रुप में हुई है. इधर, एडीजी लॉ इन ऑर्डर संजय कुमार सिंह ने कुछ भी जानकारी देने से इंकार करते हुए कहा कि इस मामले की जानकारी पटना के एसएसपी और डीएम ही देंगे.

बताते चलें कि सीएम नीतीश कुमार बख्तियारपुर के एक सरकारी अस्पताल के कार्यक्रम में शिरकत करने गए थे. वहां वे स्वतंत्रता सेनानी शीलभद्र जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर रहे थे. इसी दौरान एक युवक आया और तेजी से मुख्यमंत्री के करीब पहुंच कर उनपर हमला कर दिया. सीएम की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मी ने उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया. हमलावर को लेकर कहा जा रहा है कि वो दिमागी तौर पर पीड़ित है. उसे हिरासत में ले लिया गया और पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.

सीएम की सुरक्षा में चूक

हालांकि इस हमला को सीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक मानी जा रही है और पुलिस महकमा के आला अधिकारियों ने इसकी सघन जांच शुरू कर दी है. इस पूरे मामले में एडीजी (मुख्यालय) जितेंद्र सिंह गंगवार ने कहा कि पूरी घटना से संबंधित तमाम पहलुओं की पूरी गहराई से जांच की जा रही है. इसके साथ ही संबंधित पुलिस कर्मियों और अन्य पदाधिकारियों पर भी जिम्मेदारी का निर्धारण किया जायेगा. जो दोषी पाये जायेंगे, उन पर कार्रवाई भी की जायेगी. जिस युवक ने यह हरकत की है, उसे सुरक्षा कर्मियों ने हिरासत में ले लिया है. फिलहाल उससे पूछताछ चल रही है. इसके बाद ही पूरी स्थिति स्पष्ट हो पायेगी. जल्द ही इस मामले में पूरी रिपोर्ट सामने आ जायेगी.

एसएसजी करती है सीएम की सुरक्षा 

मुख्यमंत्री के सुरक्षा की जिम्मेदारी एसएसजी की होती है और यह सबसे सशक्त सुरक्षा व्यवस्था मानी जाती है. इस सुरक्षा व्यवस्था की समय-समय पर ऑडिट विशेष शाखा के स्तर से भी की जाती है. ऐसे में सुरक्षा में चूक होना बड़ी लापरवाही मानी जा रही है. सुरक्षा घेरे को चीरते हुए युवक सीएम तक पहुंच गया, यह बड़ी लापरवाही मानी जा रही है. फिलहाल इससे जुड़े तमाम पहलुओं पर सघन जांच चल रही है.

सीएम नीतीश पर पहले भी हुआ था हमला

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, इस युवक का नाम शंकर कुमार वर्मा बताया जा रहा है. वह बख्तियारपुर का ही रहने वाला है और मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया जाता है. कुछ दिनों पहले भी वह घर की छत से कूद गया था. युवक के परिजनों ने पूछताछ में पूरी जानकारी दी है. हालांकि इससे जुड़े तमाम पहलुओं पर जांच करने के बाद ही पूरी बात स्पष्ट रूप से कही जा सकती है. आला अधिकारी इस पर पड़ताल में जुटे हैं. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर इससे पहले भी हमला हुआ है. वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव के दौरान मुख्यमंत्री मधुबनी के हरलाखी विधानसभा क्षेत्र में एक रैली में भी हमला हुआ था.

2 दिवसीय निजी दौरे पर थे सीएम

बताते चलें कि सीएम नीतीश कुमार 2 दिवसीय निजी दौरे पर बाढ़ लोकसभा क्षेत्र के भ्रमण पर हैं. वे यहां अपने पुराने सहयोगियों से मिल रहे हैं. इसी क्रम में रविवार की शाम सीएम बख्तियारपुर में शीलभद्र की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर रहे थे। तभी भीड़ से निकलकर शंकर पटना के एसएसपी,डीएम और सीएम सिक्योरिटी गार्ड के सामने से होकर मंच पर पहुंचा और उनपर पीछे से हमला कर दिया. सीएम सिक्योरिटी के अधिकारियों ने युवक शंकर वर्मा को गिरफ्तार कर बख्तियारपुर पुलिस को सौंप दी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here