झारखंड सरकार ने 31 जनवरी तक के लिए बढ़ाया सेमी लॉकडाउन, पाबंदियां पहले की तरह लागू रहेंगी

0
33

झारखंड में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हेमंत सोरेन सरकार ने सेमी लॉकडाउन को 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दिया है. पाबंदियां पूर्व की तरह लागू रहेंगी. राज्य की हेमंत सोरेन सरकार द्वारा 15 जनवरी तक कई पाबंदियां (सेमी लॉकडाउन) लगाई गई थीं. इन पाबंदियों को अब 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दिया गया है. आपको बता दें कि कल शुक्रवार को ही आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक होनी थी, लेकिन किन्हीं कारणों से वह बैठक स्थगित हो गयी थी.

झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार ने राज्य में कोरोना के बढ़ते हालात को देखते हुए 3 जनवरी को हुई आपदा प्रबंधन प्राधिकार की बैठक में कई तरह की पाबंदियां लागू की थीं. 15 जनवरी 2022 तक ये पाबंदियां लागू हैं यानी आज इसकी आखिरी तारीख है. इसको देखते हुए आज शनिवार को सीएम हेमंत सोरेन ने बैठक कर सेमी लॉकडाउन को 31 जनवरी तक के लिए बढ़ा दिया है. इस दौरान पाबंदियां पहले की तरह लागू रहेंगी.

इन चीजों पर लगे हैं प्रतिबंध

– स्कूल- कॉलेज समेत अन्य शिक्षण संस्थान अगले आदेश तक के लिए बंद रहेंगे, लेकिन इन संस्थानों में 50 फीसदी क्षमता के साथ प्रशासनिक कार्य होंगे.

– स्टेडियम, आउटडोर, इंडोर, पार्क, जिम, जू, स्विमिंग पुल, पर्यटन स्थल बंद रहेंगे.

– मॉल, रेस्टोरेंट, बैंक्वेट हॉल और सिनेमा हॉल 50 प्रतिशत क्षमता के साथ संचालित होंगे.

– दुकानें रात आठ बजे तक ही खुली रहेंगी.

– सिर्फ बार, रेस्टोरंट और दवाई दुकान नार्मल टाइम तक खुले रहेंगे.

– सरकारी और निजी संस्थानों में 50 प्रतिशत क्षमता पर काम होगा.

– बायोमैट्रिक सिस्टम बंद होगा.

– हाट और बाजार सोशल डिस्टेंसिंग के साथ खुले रहेंगे.

– शादी और अंत्येष्टि में 100 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति है.

– आउटडोर आयोजन में अधिकतम 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे.

– इनडोर आयोजनों में कुल क्षमता का 50 फीसदी या 100 दोनों में से जो कम हो क्षमता के साथ आयोजन हो सकेंगे.

आपको बता दें कि 3 जनवरी को हुई बैठक में सीएम हेमंत सोरेन ने अधिकारियों को निर्देशित किया था कि राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए सभी अनिवार्य स्वास्थ्य सेवाओं को प्राथमिकता के साथ दुरुस्त करें. स्थिति को मद्देनजर राज्य के सभी जिलों को अलर्ट मोड में रखा जाये. इसके साथ ही कोरोना जांच की संख्या में हर हाल में वृद्धि हो, अधिकारी यह सुनिश्चित करें. इसके साथ ही सभी कोविड केयर अस्पतालों में ऑक्सीजनयुक्त बेड, आईसीयू बेड, नॉर्मल बेड, अनिवार्य दवाएं आदि व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त रखने का निर्देश दिया था. साथ ही सभी भीड़वाले क्षेत्रों में कोविड-19 अनुकूल व्यवहारों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करवाने का निर्देश अधिकारियों को दिया गया था.